Social Share:
लगभग 255 कस्टम हायरिंग केंद्र मध्यप्रदेश में खोले जायेंगे
लगभग 255 कस्टम हायरिंग केंद्र मध्यप्रदेश में खोले जायेंगे

प्रदेश के किसानों को किराए पर ट्रैक्टर एवं कृषि यंत्र लेकरअपनी खेती में मुनाफ़ा प्राप्त कर सके और इसके अलावा उनकी आय को दुगना करने के लक्ष्य से राज्य में कस्टम हायरिंग सेंटर खोले जा रहे हैं। इस बार वर्ष 2019-20 में 255 नए केन्द्र खोलने का लक्ष्य रखा निर्धारित किया गया है। और इसके अंतर्गत 7 यंत्रों की जगह 9 यंत्रों की खरीदी अनिवार्य की गई है।

इस बार की कस्टम हायरिंग केन्द्र स्थापना की योजना में संशोधन भी किया गया है। कस्टम हायरिंग केन्द्रों में 7 की जगह 9 यंत्रों को रखना अनिवार्य किया गया है। उन्होंने बताया कि पूर्व में ट्रैक्टर, प्लाऊ, रोटावेटर, कल्टीवेटर या डिस्क हेरो, सीड कम फर्टिलाईजर ड्रिल या जीरो टिल सीड कम फर्टिलाईजर ड्रिल, टै्रक्टर चलित थ्रेशर या स्ट्रारीपर एवं रेज्ड वेज्ड प्लांटर अथवा राईस ट्रांसप्लांटर एक-एक प्रत्येक केन्द्र पर रखना अनिवार्य था, लेकिन अब प्राथमिक प्रसंस्करण से सम्बंधित मशीनें जैसे टैै्रक्टर चलित क्लीनिंग ग्रेडिंग प्लांट एवं डि-स्टोनर भी रखना होगा। सूत्रों के मुताबिक लगभग 26 कृषि यंत्र किसानों की सुविधा के लिए ऐच्छिक रूप से भी रखे गए हैं। इन 9 यंत्रों के अलावा यदि प्रोजेक्ट की लागत सीमा तक राशि शेष रहती हैं तो 26 ऐच्छिक यंत्रों में से कोई भी यंत्र किसान अपने कस्टम हायरिंग केन्द्र के लिए क्रय कर सकते हैं।

एच्छिक कृषि यंत्र एवं मशीन

1. रेज्ड बेड प्लान्टर 
2. जीरो टिलेज सीड ड्रिल
3. गार्लिक प्लान्टर 
4. वेजीटेबल प्लान्टर 
5. पोटेटो प्लान्टर 
6. शुगरकेन कटर-प्लान्टर 
7. मल्टीकाप प्लान्टर 
8. टै्रक्टर माउन्टेड रीपर
9. कॉटन पीकर
10. टै्रक्टर माउन्टेड स्प्रेयर
11. पावर स्प्रेयर
12. ऐरो ब्लास्ट स्प्रेयर
13. लेजर लेण्ड लेवलर
14. स्ट्रारीपर
15. सीड ग्रेडर 
16. पावरटिलर
17. सेल्फ प्रोपेल्ड रीपर
18. रीपर कम बाइन्डर
19. राईस ट्रांसप्लान्टर
20. पावर वीडर
21. पोटेटो डिगर
22. मेज शेलर (पावर ऑपरेटेड)
23. एक्सियल फ्लो पेडी थ्रेसर
24. हैप्पी सीडर
25. रोटरी प्लाउ
26. डोजिंग अटैचमेंट