Social Share:
साग-सब्जियों के लिए घर पर तैयार कर सकते हैं सब्जियों का बगीचा, जाने कैसे
साग-सब्जियों के लिए घर पर तैयार कर सकते हैं सब्जियों का बगीचा, जाने कैसे

साग-सब्जियों का हमारे दैनिक रूप से उपयोग होने वाले आहार में विशेष स्थान रखती है। सब्जी के माध्यम से भोजन में बहुत सारे पोषक तत्वों को शामिल किया जाता हैं, सब्जिया सिर्फ हमारे स्वास्थ्य को ही नहीं बढ़ाते, बल्कि उसके स्वाद को भी बढ़ाते हैं। इसलिए अच्छे स्वस्थ्य जीवन को बनाये रखने के लिए हम आपको बताएंगे की किस सब्जी की खेती कैसे करे-
 
ऐसे बनाएं सब्जी बगीचा:
सब्जियों का बगीचा बनाने के लिए अगर आप चाहे तो साफ पानी के किचन एवं स्नानघर से निकले पानी का इस्तेमाल कर घर के पिछवाड़े में साग-सब्जी उगाने का बगीचा बना सकते है। इससे दो फायदे होंगे इकट्ठे हुए पानी का सही उपयोग और उस पानी से होने वाले प्रदुषण से मुक्ति, और बड़ा फायदा ये होगा की सब्जी को बाजार से नहीं खरीदना पड़ेगा।

पौधे लगाने के लिए खेत की तैयारी:
इसके लिए सबसे पहले 30-40 सेंटीमीटर के लगभग की गहराई तक कुदाली या हल की मदद से जुताई करें। जिस जगह जुताई कर रहे है वह से पत्थर, झाड़ियों एवं बेकार के खर-पतवार को हटा दें। इसके बाद 100 किलोग्राम कृमि खाद को पुरे क्षेत्र में चारों ओर फैला दें। इसके अलावा 45 सेंटीमीटर या 60 सेंमी की दूरी पर मेड़ या क्यारी बनाना न भूले।

बुआई और पौध रोपण:
भिंडी, बीन एवं लोबिया ये वो सब्जी है जिनकी सीधे बुवाई की जाती है इनके लिए बुआई मेड़ या क्यारी बनाकर की जा सकती है। इसके अलावा दो पौधे 30 सेमी. की दूरी पर लगाए जाने चाहिए। अगर बात करे प्याज, पुदीना एवं धनिया की तो इन्हे आप खेत की मेड़ पर उगा सकते है। टमाटर, बैगन और मिर्ची आदि को मटके में उगाया जा सकता है। बुआई की प्रक्रिया पूरी करने के बाद उसे मिट्टी से ढंककर उसके ऊपर 250 ग्राम नीम के फली का पाउडर बनाकर उसे छिड़का जा सकता है ताकि इसे चीटियों से बचाया जा सके।

  • सब्जी बगीचा का बगीचा लगाने से साल भर आप घरेलू सब्जी प्राप्त कर सकते है, और स्वस्थ्य भोजन से आप भी तरोताजा महसूस करेंगे।
  • कुछ चीजों को ध्यान में रखते हुए इस लक्ष्य को आसानी से प्राप्त किया जा सकता है।
  • बगीचे के एक छोर पर बारहमासी पौधों को लगाए। इससे इनकी छाया अन्य फसलों पर नहीं पड़ेगी तथा दूसरी साग-सब्जी फसलों को पोषण दे सकें।
  • बगीचा के चारों तरफ हरी साग-सब्जी जैसे - धनिया, पालक, मेथी, पुदीना आदि उगाने के लिए किया जा सकता है।

सब्जी बगीचा के लिए स्थल चयन:
बगीचे के लिए घर का पिछवाड़ा एक अच्छी जगह होती है कई लोग इसे बाड़ी भी कहते हैं। इसका फायदा ये होता है की परिवार के बाकि सदस्य खाली समय में साग-सब्जियों पर ध्यान दे सकते हैं, इसके अलावा घर के किचन और बाथरूम से निकले पानी को बड़ी आसानी से सब्जी की क्यारी की ओर घुमाया जा सकता है।
चार या पांच व्यक्ति वाले औसत परिवार के हिसाब से बात की जाये तो 1/20 एकड़ जमीन पर की गई सब्जी की खेती पर्याप्त हो सकती है।

सब्जियों के बगीचे से लाभ:
दैनिक उपयोग में आने वाली सब्जी के अलावा जरुरत से ज्यादा सब्ज़ी होने पर उत्पाद को बाजार में बेचा जा सकता है या उसके बदले दूसरी सामग्री खरीद सकते है। परिवार के सदस्यों में अच्छे स्वास्थ्य के अलावा ये एक कमाई का अतिरिक्त साधन भी बन सकता है।