Social Share:
#HappyNewYear2019: शिवहर कृषि मेला में उमड़ी किसानों की भीड़

शिवहर (बिहार)। मुख्यालय में कृषि कार्यालय परिसर में दो दिवसीय कृषि यांत्रिकीकरण सह किसान मेला आयोजित किया गया। उद्घाटन आत्मा निदेशक शंकर कुमार झा और जिला कृषि अधिकारी विष्णुदेव कुमार रंजन ने संयुक्त रूप से किया। इस दौरान मंच से खेती की आधुनिक पद्धति को अपनाने पर जोर दिया। इसी समय कृषि उपकरणों का उपयोग लाभकारी और उपयोगी है यह भी बताया गया। जिला कृषि अधिकारी श्री रंजन ने कहा कि किसानों को मेले का इंतजार नहीं करना पड़ेगा। कहा कि जनवरी 19 में तीन मेले आयोजित किए जाएंगे, जिसमें किसान अपनी जरूरत के हिसाब से रियायती मूल्य पर कृषि यंत्र खरीद सकेंगे। और कहा गया कि इसके लिए ऑनलाइन आवेदन और परमिट लेना अनिवार्य है। उसी समय आत्मा परियोजना निदेशक श्री झा ने किसानों को कृषि में आधुनिक तरीकों का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित किया। कहा कि इससे न केवल समय की बचत होगी, बल्कि लागत भी कम होगी। सबसे बड़ा लाभ यह है कि उत्पादन में गुणात्मक वृद्धि होती है जो किसानों के लिए फायदेमंद साबित होगी।

 

कृषि कार्यालय में आयोजित किसान मेले में विभिन्न कृषि मशीनों के लिए लगभग 20 स्टॉल लगाए गए थे। जहां ट्रैक्टर, कल्टीवेटर, रोटावेटर, गेज, नेटसेट स्पेयर ग्रेन, बर्फीले पाइप, और अन्य कृषि उपकरणों को सजाया गया था। जहां किसान इनपुट और कीमतों की तलाश कर रहे हैं। इस बीच हमें अनुदान की राशि के बारे में भी जानकारी मिली। पहले दिन में किसानों द्वारा कुल 66 कृषि यंत्रों की खरीद की गई। जिसमें कल्टीवेटर 7, रोटावेटर 3, इलेक्ट्रिक मोटर 15, डीजल पंपसेट 5, एचडीपीई पाइप 5, और अधिकांश 33 चाराकल बेचे गए। जिसका कुल सब्सिडी मूल्य 5 लाख 44 हजार 200 रुपये बताया गया था। यह भी बताया गया कि कृषि कार्यालय द्वारा 10 हजार रुपये से अधिक अनुदान वाले कृषि यंत्रों के कुल 171 परमिट एवं 10 हजार से नीचे अनुदानित मूल्य के 347 कुल 518 यंत्रों के परमिट निर्गत किए गए हैं। आवेदन के बारे में पूछे जाने पर यह बताया गया कि किसानों ने निकटतम 900 इलेक्ट्रिक मोटर्स के लिए आवेदन किया है। इस अवसर पर कृषि समन्वयक, कृषि सलाहकार और बड़ी संख्या में किसान उपस्थित थे।