kisan

Chia Seeds (चिया सीड)

Basic Info

साल्विया हिस्पैलिका (Salvia Hispanica) चिया बीज (Chia Seed) का वैज्ञानिक नाम है, आमतौर पर यह चीन के रूप में जाना जाता है, और यह टकसाल परिवार, लामियासी से एक फूल वाला पौधा है, जो मध्य और दक्षिणी मैक्सिको और ग्वाटेमाला के मूल निवासी है। यह एक छद्मशेष माना जाता है, मुख्य रूप से इसकी खाद्य, हाइड्रोफिलिक चिया बीज के लिए खेती की जाती है, जिसे पश्चिमी दक्षिण अमेरिका, पश्चिमी मैक्सिको और दक्षिण-पश्चिमी संयुक्त राज्य अमेरिका के कई देशों में भोजन के रूप में उगाया जाता है। अब चिया सीड की खेती भारत में मंदसौर और नीमच और कुछ जिलों में होने लगी है, ये फसल रबी के समय अक्टुम्बर और नवम्बर माह में लगायी जाती है।

Seed Specification

बुवाई का समय 
अक्टूबर और नवम्बर माह में इसकी बुवाई करना उचित माना जाता है।

बीज की मात्रा
इसमें बीज की मात्रा 1 से 1.5 किलोग्राम प्रति एकड़ रखी जाती है।

बुवाई का तरीका
चिया सीड्स (chia seeds) की बुवाई छिटकवाँ विधि से या लाइनों में की जाती है, परन्तु लाइनों में बुवाई करना अधिक उपयुक्त रहता है। बुआई के समय यदि खेत में नमी की मात्रा कम हो तो हल्की सिचाई बुवाई के उपरांत की जा सकती है।

दुरी
बोने की दूरी 30 सेमी रखकर बुवाई करें। अंकुरण के पश्चात 15 से 20 दिन के पश्चात पौधों की दूरी 15 सेमी कर दे।

गहराई 
बीज को 1.5 सेमी से अधिक गहरा न बोये। अन्यथा बीज के जमाव पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा।

बीज उपचार
बीज जनित रोग जड़ गलन की रोकथाम हेतु बीज को 2.5 ग्राम/किलोग्राम बीज की दर से केप्टान या थीरम फफूंदनाशक से उपचारित करना चाहिए।

Land Preparation & Soil Health

जलवायु
चिया बीज के लिए मध्यम तापमान की जरुरत होती है, मध्यप्रदेश और राजस्थान का तापमान इस फसल के लिए सबसे अच्छा होता है।

भूमि
चिया बीज की खेती सभी तरह की मिट्टी में की जा सकती है। लेकिन इसकी खेती के लिए उत्तम जलनिकास वाली हल्की भुरभुरी और रेतीली मिट्टी उपयुक्त होती है।

खेत की तैयारी
चिया बीज के भरपूर उत्पादन के लिए भूमि को अच्छी तरह से तैयार करना जरूरी है। इसके लिए पहली जुताई मिट्टी पलटने वाले हल से तथा बाद में 2-3 जुताईया कल्टीवेटर से करके खेत को भुरभुरा बना लेना चाहिए। इसके पश्चात पाटा लगाकर मिट्टी को बारीक करकर खेत को समतल करें। इसके पश्च्यात अच्छे अंकुरण के लिए बुवाई से पूर्व खेत में उचित नमी होना आवश्यक है। इसलिए खेत को पलेवा देकर बुवाई करना अच्छा रहता है।

Crop Spray & fertilizer Specification

खाद एवं रासायनिक उर्वरक
खाद एवं उर्वरक की मात्रा खेत की मिट्टी परीक्षण करवाकर ही देनी चाहिए। चिया की अच्छी पैदावार के लिए 10 टन गोबर की खाद या कम्पोस्ट खाद डालना चाहिए। इसके अतिरिक्त सामान्य उर्वरता वाली भूमि के लिए प्रति हेक्टेयर  40:20:15 NPK का तत्व के रूप में प्रयोग किया जाता है। नाइट्रोजन की मात्रा दो बराबर भागो में बुआई से 30 व 60 दिन के अंतर पर खड़ी फसल में सिंचाई के साथ डालना चाहिए। NPK का तत्व के लिए नीम खली और नीम पाउडर का प्रयोग कर सकते है, साथ ही साथ चिया सीड्स (chia seeds) की आर्गेनिक खेती के लिए नीम खली और नीम आयल सबसे उत्तम है।

फसल सुरक्षा: मुख्य कीट व रोग निम्न है।
कटवा इल्ली: यह इल्ली पौधे को जमीन के पास से काटकर नुकसान पहुँचाती है, तथा पत्तियों को भी खुजती है, इसकी रोकथाम के लिए क्लोरोपायरीफास 20 ई.सी दवा का 2.5 मिलीलीटर पानी के हिसाब से मिलाकर छिड़काव करें।

Weeding & Irrigation

खरपतवार नियंत्रण
चिया सीड्स (chia seeds) की फसल लेने तथा खेत को खरपतवार से मुक्त रखने के लिए दो तीन निराई-गुड़ाई की जरूरत पड़ती है। लगभग हर 30 दिन के अंतर पर निराई-गुड़ाई की जानी चाहिए। पहली निराई-गुड़ाई के समय फालतू पौधों को निकाल देवें।

सिंचाई
फसल की जरुरत अनुसार सिंचाई कर देना चाहिए।

Harvesting & Storage

फसल कटाई
चिया सीड्स (Chia Seeds) की फसल लगभग 100-115 दिन में पककर तैयार हो जाती है, कटाई के लिए तैयार फसल को पूरे पौधे से उखाड़ लिया जाता है और खलिहान में 5-6 दिन तक सूखाने के लिए रखते है। सूखाने के पश्चात थ्रेशर मशीन में निकल लिया जाता है।

उपज
एक एकड़ से औसतन 5-6 प्रति-क्विंटल की उपज प्राप्त की जा सकती है।

नोट: इसके बीज के लिए संपर्क करें किसान हेल्पलाइन पर - +91-7415538151


Chia Seeds (चिया सीड) Crop Types

You may also like

No video Found!

Frequently Asked Questions

Q1: चिया के बीज उगने में कितना समय लगता है?

Ans:

बीजों को घर के अंदर डालें जहां वे पक्षियों और अन्य जानवरों को एक नम पेपर टॉवल या नम बीज-शुरुआती मिश्रण की एक ट्रे के ऊपर बिखेर कर सुरक्षित रखते हैं। जब तक आप उन्हें गर्म रखते हैं और उन्हें पर्याप्त नमी और उज्ज्वल प्रकाश प्रदान करते हैं, तब तक आपके चिया बीज को तीन से 14 दिनों में अंकुरित होना चाहिए।

Q3: चिया बीज का हिंदी नाम क्या है?

Ans:

चिया बीज मेक्सिको का मूल निवासी है और इसका भारतीय नाम नहीं है। हालाँकि, यह समय और फिर से तुलसी के बीज के साथ भ्रमित हो गया है जिसे हिंदी में सबजा के रूप में भी जाना जाता है। उपस्थिति, मूल या स्वास्थ्य लाभ में हो, चिया बीज कई मायनों में सबजा से अलग हैं।

Q5: चिया के बीज को कितने समय तक भिगोना है?

Ans:

बादाम के दूध या पानी (1/4 कप बीज से 1 कप तरल) में बीज भिगोएँ, जब तक कि वे लगभग 20 मिनट तक टैपिओका पुडिंग की याद ताजा बनावट पर न ले जाएं। भिगोया हुआ चिया बीज को 5 दिनों तक रेफ्रिजरेट किया जा सकता है, इसलिए आप सप्ताह की शुरुआत में एक बड़ा बैच बना सकते हैं।

Q2: क्या चिया के बीज भारत में उगाए जा सकते हैं?

Ans:

पारंपरिक फसलों से अलग, कर्नाटक में मैसूरु जिले के किसानों ने चिया बीज की खेती करके कृषि आय को बढ़ावा दिया है, जो कि उनके पोषण मूल्य के कारण भारत में लोकप्रिय हो रहे हैं।

Q4: चिया बीज आपके लिए अच्छे क्यों हैं?

Ans:

चिया बीज न केवल पोषक तत्वों, ओमेगा -3 वसा, एंटीऑक्सिडेंट और फाइबर से समृद्ध हैं, बल्कि तैयार करने में भी आसान हैं। लोग आमतौर पर उन्हें अपने दलिया या स्मूदी में जोड़ते हैं। अध्ययन बताते हैं कि उनके पास विभिन्न स्वास्थ्य लाभ हैं, वजन घटाने से लेकर सूजन कम करने तक।

Q6: तुकमलंगा (चिया बीज) क्या है?

Ans:

विश्व के स्वास्थ्यप्रद सम्पूर्ण खाद्य पदार्थों में, तुकमलंगा (चिया बीज) को ऊर्जा के स्रोत के रूप में हजारों वर्षों से दुनिया भर की जनजातियों द्वारा अनाज के रूप में उपयोग किया जाता है। ओमेगा -3 से भरपूर मात्रा में संतुलित आहार फाइबर युक्त सुपरफूड।