Speciality:

Atari Address- ICAR-ATARI Zone-VIII Pune ICAR-Agricultural Technology Application Research Institute (ATARI), College of Agriculture Campus, Shivajinagar, Pune (Maharashtra)

Host Institute Name- Anand Agricultural University Anand, Gujarat

Pin Code- 382230

Ahmedabad Mandi Rates


Select Date:


अहमदाबाद ज़िला भारत के गुजरात राज्य का एक ज़िला है। ज़िले का मुख्यालय अहमदाबाद है। जिले का मुख्यालय साबरमती के तट पर स्थित गुजरात का सबसे बडा और भारत में सातवे क्रम का सब से बडा शहर, अहमदाबाद, है।

गेहूं का “अहमदाबाद” जिले में सबसे ज्यादा उत्पादन होता है। काली और कम्प वाली भूमि अनुकूल होती है। अहमदाबाद के भाल क्षेत्र का भालिया गेहूं अच्छी तरह से जाना जाता है। 
गेहूं की इस किस्म का व्यापक रूप से सूजी तैयार करने के लिए उपयोग किया जाता है। इससे तैयार सूजी से पास्ता, मैकरोनी, पिज्जा, स्पेगेटी, सेवई, नूडल्स वगैरह बनाए जाते हैं। गेहूं की किस्म की एक विशेषता यह है कि इसे बारिश के मौसम में बिना सिंचाई के भी उगाया जाता है।
गुजरात में लगभग दो लाख हेक्टेयर कृषि योग्य भूमि में इसकी खेती की जाती है। गेहूं की भालिया किस्म को जुलाई, 2011 में आणंद कृषि विश्वविद्यालय के प्रोपराइटरशिप में जीआई टैग मिला था।

भालिया गेहूं के बारे में जानिए
भालिया गेहूं का नाम भाल क्षेत्र के कारण पड़ा है। भाल क्षेत्र अहमदाबाद और भावनगर जिलों के बीच स्थित है, जहां अंग्रेजों से आजादी से बहुत पहले से ही इस गेहूं की खेती की जाती है। अहमदाबाद जिले के धंधुका, ढोलका और बावला तालुकों में इनकी व्यापक रूप से खेती की जाती है। वहीं, लिम्बडी के सुरेंद्रनगर जिले, भावनगर जिले के वल्लभीपुर, आणंद जिले के तारापुर और खंभात आदि जिलों में भी इसकी खेती की जाती है।

बारिश का पानी खाड़ी में चले जाने के बाद अक्टूबर के अंत से नवंबर के पहले सप्ताह तक बुवाई शुरू हो जाती है। देश में 2 लाख हेक्टेयर यानी करीब 4,90,000 एकड़ में हर साल 1.7 से 1.8 लाख टन गेहूं का उत्पादन होता है।

मार्च-अप्रैल में या उसके बाद फसल की कटाई होती है। भालिया किस्म की गेहूं को सिंचाई या बारिश की आवश्यकता नहीं होती है क्योंकि इसकी खेती संरक्षित मिट्टी की नमी पर की जाती है।

भालिया गेहूं के फायदे
  • भालिया गेहूं में ग्लूटेन पाया जाता है, जो कि एक तरह का अमीनो एसिड होता है।
  • इसमें भरपूर प्रोटीन होता है।
  • इसके अलावा कैरोटीन की मात्रा अधिक पाई जाती है।
  • इसमें पानी का अवशोषण कम होता है।
  • स्वाद में मीठा होता है।