Social Share:
भूमि, माँ वसुंधरा बीमार है
भूमि, माँ वसुंधरा बीमार है

इस मुठ्ठी भर मिट्टी पर हमारा अस्तित्व निर्भर है। इसका पोषण करने पर यह भोजन, ईंधन एवं मकान की व्यवस्था कराने में सहायक होगी और सौंदर्य से भरपूर कर देगी। 

यह निश्चित है कि, मिट्टी होगी तो समस्त जीव-मनुष्य को भोजन मिलता रहेगा। मिट्टी संवर्धन के उपाय अवश्य अपनाये, जीवन के अस्तित्व के लिए।

दुरूपयोग करने से मिट्टी नष्ट हो जायेगी और अपने साथ मानव को भी नष्ट कर देगी, (सौजन्य से: श्री विजय भोंगाडे, एनबीएसएस एलयूपी, नागपुर)

भूमि में पुनः सांमजस्य प्रतिस्थापित करें, अन्यथा नित नई बीमारीयों को फैलने से रोकना संभव नहीं होगा।
 
ज़मीन का प्रदूषण: कृषि रसायनों से, रासायनिक उर्वरकों का अत्यधिक उपयोग, कीटनाशक रसायन, खरपतवार रसायन, रोग नियंत्रक रसायन के कारण भूमि की उर्वरा शक्ति कम हो रही है।