Social Share:
Agriculture News: MP में ड्रोन से शुरू हुआ नैनो यूरिया लिक्विड का फसलों पर छिड़काव
Agriculture News: MP में ड्रोन से शुरू हुआ नैनो यूरिया लिक्विड का फसलों पर छिड़काव

MP Agriculture News: इफको के अधिकारियों ने कहा कि नैनो यूरिया लिक्विड एक बेहतर विकल्प है। सामान्य यूरिया की तुलना में नैनो तरल यूरिया का उपयोग करना बहुत आसान है। यह पारंपरिक यूरिया से सस्ता है। मध्य प्रदेश में नैनो यूरिया लिक्विड का ड्रोन से छिड़काव शुरू हो गया है। आने वाले दिनों में जब पारंपरिक यूरिया का चलन खत्म होगा तो किसानों को इसका छिड़काव करना होगा। क्योंकि नैनो यूरिया तरल होता है। ऐसे में बड़े किसानों को ड्रोन का ही सहारा लेना पड़ेगा। राज्य के कृषि मंत्री कमल पटेल ने जबलपुर के चारगवां रोड स्थित ग्राम लालपुर में ड्रोन द्वारा फसल पर नैनो लिक्विड यूरिया के छिड़काव का अवलोकन किया। इस मौके पर हरियाणा के कृषि मंत्री जेपी दलाल भी मौजूद थे।

मध्यप्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा कि किसानों को कृषि की आधुनिक तकनीक से जोड़कर ही फसलों की लागत कम की जा सकती है। प्रदर्शन का आयोजन इंडियन फार्मर्स फर्टिलाइजर को-ऑपरेटिव लिमिटेड (इफको) द्वारा किया गया था।

यूरिया का बेहतर विकल्प
इफको के अधिकारियों ने कहा कि नैनो यूरिया लिक्विड, यूरिया का बेहतर विकल्प है। यूरिया की तुलना में नैनो तरल यूरिया का उपयोग करना बहुत आसान है। यह पारंपरिक यूरिया से सस्ता है। इसे पानी में मिलाकर फसल पर छिड़काव किया जाता है।

Bio fertilizer Center का अवलोकन
इससे पहले कृषि मंत्री पटेल ने हरियाणा के कृषि मंत्री जेपी दलाल के साथ सुबह जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय के Bio fertilizer Center का दौरा किया। पटेल ने इस अवसर पर उपस्थित कृषि वैज्ञानिकों से चर्चा की। जैव उर्वरकों के उपयोग के लिए किसानों को जागरूक और प्रोत्साहित करने की आवश्यकता बताई।

इफको सभी राज्यों में फसलों पर नैनो यूरिया के छिड़काव का प्रदर्शन कर रहा है, ताकि किसानों को पता चले कि यह पारंपरिक यूरिया की तुलना में कितना फायदेमंद है। अक्टूबर में, गुजरात के भावनगर में नैनो यूरिया तरल के ड्रोन छिड़काव का भी प्रदर्शन किया गया था। देश के कई राज्यों जैसे उत्तर प्रदेश, हरियाणा, महाराष्ट्र, कर्नाटक, हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश और जम्मू-कश्मीर के किसान नैनो लिक्विड यूरिया का इस्तेमाल कर रहे हैं।

नैनो यूरिया की शुरुआत कब हुई?
इस साल 31 मई को इफको ने नैनो यूरिया लिक्विड लॉन्च किया। 500 मिली की एक बोतल सामान्य यूरिया की एक बोरी के बराबर होती है। इसकी कीमत 240 रुपये है, जो सामान्य यूरिया की एक बोरी की कीमत से 10 फीसदी कम है। देश भर में 94 फसलों पर लगभग 11,000 कृषि क्षेत्र परीक्षण करने के बाद, वैज्ञानिक इस निष्कर्ष पर पहुंचे हैं कि इसके उपयोग से औसत उपज में 8 प्रतिशत की वृद्धि होती है।