n

आई.सी.पी.-8863 (मारुती, 1986)

Crops Season : kharif season

Name of Variety : ICP-8863 (Maruti, 1986)

Yield : 20-22 q/hec.

Duration : 150-160 Days

Water requirement : मध्यम गहरी भूमि में जहाँ पर्याप्त वर्षा होती हो और सिंचित एंव असिंचित स्थिति में मध्यम अवधि की जातियाँ  बोनी चाहिए। ( In medium deep areas where there is sufficient rainfall and in the irrigated and uninfected condition, medium-term caste should be sown. )

Area of Cultivation (State) : Madhya Pradesh

Specialty : असीमित वृद्धि वाली, मध्यम आकार का भूरा लाल दाना होता है। यह उकटा रोधक जाति है। इस जाति में बांझपन रोग का प्रभाव ज्यादा होता है। ( There is an unlimited growth, medium-sized brown red pimple. This is a rebellious race. Infertility is more effective in this species. )

Description : यह क़िस्म मध्यम उपज की गिनती में आती है मध्यम पकने वाली जातियों का 15 से 20 किग्रा. बीज/हेक्टर बोना चाहिए एवं  बोनी के पूर्व फफूदनाशक दवा 2 ग्राम थायरम $ 1 ग्राम कार्बेन्डेजिम या वीटावेक्स 2 ग्राम $ 5 ग्राम ट्रयकोडरमा प्रति किलो बीज के हिसाब से उपचारित करें जहाँ सिंचाई की सुविधा उपलब्ध हो वहाँ एक हल्की सिंचाई फूल आने पर व दूसरी फलियाँ  बनने की अवस्था पर करने से पैदावार में बढोतरी होती है ( This type of medium yield comes in counting of 15 to 20 kg of medium ripening species. Seed / Hector should be sown and treated before the Bonnie Fungicide Drugs 2 gm Thiram $ 1 gm carbendazim or VitaVax 2 gram Rs 5 gram. Tricoderma per kg seed where irrigation facility is available where there is a slight irrigation flora and other beans Increasing the yield results in the state of being made )

 

Crops Chart

No data available

Crops Video